गुरुग्राम : झारखंड के इनामी कुख्यात गैंगस्टर अखिलेश सिंह को पकड़ने में कामयाब रही दो राज्यो की पुलिस !

गुरुग्राम : झारखंड के इनामी कुख्यात गैंगस्टर अखिलेश सिंह को पकड़ने में कामयाब रही दो राज्यो की पुलिस !

दिल्ली के पास गुरुग्राम में दो राज्यो की पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन में झारखंड के एक पांच लाख के इनामी कुख्यात गैंगस्टर अखिलेश सिंह को पकड़ने में कामयाब रही टीम । सुशांत लोक इलाके में एक गेस्ट हाउस के रुम में ये एनकाउंटर किया गया । गिरफ्तार किया गया गैंगस्टर झारखंड में मोस्ट वांटेड था जिस पर 55 से ज्यादा आपराधिक मुकद्दमें दर्ज हैं जिसमें जमशेदपुर जेलर की हत्या और सजा सुनाने वाले जज पर जानलेवा हमला भी शामिल हैं । एनकाउंटर झारखंड पुलिस और गुरुग्राम पुलिस की क्राइम टीम ने किया । 
साइबर सिटी गुरुग्राम में मंगलवार देर रात एक बजे पॉश इलाका सुशांत लोक गोलियों की दड़दडाहट से उस वक्त गूंज उठा जब झारखंड पुलिस और गुरुग्राम पुलिस के साझा ऑपरेशन में झारखंड का एक कुख्यात गैंगस्टर पुलिस के हत्थे चढा । झारखंड पुलिस पांच लाख के इनामी गैंगस्टर अखिलेश सिंह का पीछा कर रही थी जिसकी सूचना गुरुग्राम में होने की मिली थी । झारखंड पुलिस गुरुग्राम पुलिस के पास पहुंची और गुरुग्राम की क्राइम टीम के साथ एक साझा ऑपरेशन चलाया जिसके तहत सुशांत लोक फेस वन के बी ब्लॉक के इसी गेस्ट हाउस में रेड की गई । जब दोनो राज्यो की पुलिस रुम नम्बर 102 में पहुंची तो रुम में पहले से मौजूद झारखंड के गैंगस्टर अखिलेश सिंह ने पुलिस पर फायरिंग कर दी । जवाबी कार्यवाई करते हुए पुलिस ने भी फायर किया जिसमें अखिलेश सिंह घायल हो गया और उसके दोनो पैरों में एक एक गोली लग गई । अखिलेश के साथ मौजूद उसकी पत्नि गरिमा ने भी पुलिस को रोकने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने दोनो को धर दबौचा ।
गोली लगने के बाद अखिलेश सिंह को गुरुग्राम के नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां पर उसका इलाज चल रहा है । दोपहर में झारखंड पुलिस और गुरुग्राम पुलिस ने साझा बयान जारी किया जिसमें झारखंड पुलिस ने बताया कि अखिलेश सिंह झारखंड का नामी गैंगस्टर है जिसकी गैंग में 50 से ज्यादा मैंबर है । पुलिस के मुताबिक गैंगस्टर अखिलेश पर 55 से ज्यादा आपराधिक मुकद्दमें दर्ज हैं जिनमें से एक दर्जन तो हत्या के केस हैं । अखिलेश ने जमशेदपुर डिस्ट्रिक के जेलर जयराम की गोली मारकर हत्या कर दी थी जिस मामले में उसे उम्र कैद की सजा सुनाई गई । इतना ही नहीं जिस जज ने अखिलेश को सजा सुनाई थी उसको मारने के इरादे से अखिलेश ने उसपर जानलेवा हमला किया लेकिन जज बाल बाल बचे गए जबकि उनका गनमैन मारा गया ।
जमशेदपुर पुलिस के मुताबिक गैंगस्टर करीब डेढ साल पहले बेल पर बाहर आया था और बेल से बाहर आते ही कोर्ट में दो हत्या की थी । उसके बाद से ही अखिलेश सिंह फरार चल रहा था । पुलिस ने बताया कि अखिलेश सिंह के पिता झारखंड पुलिस ने सब इंसपेक्टर हैं । अखिलेश के परिवार की संपत्ति करोडो रुपए है जिसको लेकर ईडी उस मामले की जांच 6 महीने पहले ही शुरु कर चुका है । 
झारखंड पुलिस को लीड मिली थी कि गैंगस्टर अखिलेश सिंह गुरुग्राम में जा रहा है । पुलिस के मुताबिक रात दस बजे ही अखिलेश ने इस गेस्ट हाउस में एंट्री की थी और किसी फर्जी नाम से कमरा बुक कराया था । अखिलेश के पास से एक फोर्ड एंडेवर गाड़ी और कई गाडियों की चाबी समेत कई फर्जी कागजात भी मिले हैं । अब अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद गुरुग्राम पुलिस भी इसको रिमांड पर लेना चाहेगी ताकि इसका गुरुग्राम में आने का मकसद उगलवा सके । 
गुरुग्राम से सहयोगी बिजेंद्र कुमार के साथ टीम आपकी चौपाल न्यूज़ 

 

COMMENTS

error: Content is protected !!