Web
Analytics
भारत ने जीता बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में पहला ओलंपिया गोल्ड ! India won the first Olympia gold in bodybuilding and fitness! | Aapki Chopal

भारत ने जीता बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में पहला ओलंपिया गोल्ड ! India won the first Olympia gold in bodybuilding and fitness!

मुंबई में आयोजित 2017 एमेटर  ओलंपिया एशिया में बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में भारत ने पहली बार जीता स्वर्ण पदक ! भारतीय 21 वर्षीय युवक सुरज प्रकाश दहिया दुनिया के इतिहास में बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने !13 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक चले इस प्रतियोगिता में 45 देशों से सैकड़ों प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था।दिल्ली के नरेला में फेडरेशन ऑफ नरेला द्वारा एमेटर  ओलंपिया एशिया में बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में स्वर्ण पदक जीतने वाले सूरज प्रकाश को सम्मानित किया । इस कार्यक्रम में स्थानीय  संस्था के भी कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे !

फेडरेशन ऑफ नरेला ने मुंबई में आयोजित 2017 एमेटर  ओलंपिया एशिया में बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में स्वर्ण पदक विजेता सूरज प्रकाश को सम्मानित किया !स्वर्ण पदक विजेता सुरज प्रकाश दिल्ली नरेला के रहने वाले हैं ! पिछले कई सालो से कर रहे थे दिन रात मेहनत ,पिता बलवान सिंह का रहा विशेष सहयोग !दिल्ली नरेला के 21 वर्षीय युवक सुरज प्रकाश दहिया ने दुनिया के इतिहास में बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने !13 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक चले इस प्रतियोगिता में 45 देशों से सैकड़ों प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था जिसमे सूरज प्रकाश ने भारत को स्वर्ण पदक जीता कर के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गौरवांतित किया !
वही फेडरेशन ऑफ नरेला के अध्यक्ष जोगिंदर दहिया का कहना है कि हमारे इस लाडले बेटे ने नरेला के साथ साथ पूरे देश का नाम रोशन किया है उनका यह भी कहना हैं कि नरेला विधानसभा होने के बावजूद यहां किसी खिलाड़ी को कोई खास सुविधा नही उपलब्ध हो पाती, फिर भी सूरज ने साबित कर दिया है कि कड़ी मेहनत व लगन से सफलता पाई जा सकती है।ऐसे में जरुरत हैं कि सरकार को इन युवा खिलाडियों  सहयोग दे !स्ताहनिये लोगो ने भी सूरज को बधाई दी और कहा कि सूरज युवाओं के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत बने हैं और सरकार का भी थोड़ा सहयोग मिलना चाहिए !
21 वर्षीय युवक सुरज प्रकाश ने 2017 एमेटर ओलंपिया एशिया में बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस में पहली बार स्वर्ण पदक जीत कर के सिर्फ अपने परिवार और क्षेत्र का नाम ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपने देश को भी गौरवांतित किया हैं ऐसे में सरकार अगर ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को अगर सही सुविधा उपलब्ध करा दे तो सूरज की तरह और भी बच्चें आने वाले समय में ऐसे कई मैडल देश की झोली में लाकर दे सकते हैं।

दीपिका राय स्पेशल डेस्क आपकी चौपाल न्यूज़ ,नरेला दिल्ली !

COMMENTS

error: Content is protected !!