Web
Analytics
11वीं कक्षा की छात्रा के साथ हैवानियत की हदें पार | Aapki Chopal

11वीं कक्षा की छात्रा के साथ हैवानियत की हदें पार

राजधानी दिल्ली में हुई 11 वी की छात्रा बलात्कार का शिकार, 10 दिन तक सिरफिरे ने अपने ही घर पर तीसरी मंजिल की टांड़ पर हाथ पैर मुह बांध कर कैद किया, किसी तरह सिरफिरे के चुंगल से निकल भागने में हुई कामयाब मामला अमन विहार इलाके का! 
जी हाँ यह कोई कहानी नही हकीकत है जहाँ पर एक सिरफिरे बदमाश ने अमन विहार इलाके में रहने वाली कक्षा 11वी की छात्रा को उस वक्त उसके घर से तमंचे के बल पर उठा लिया, जब वह परचून की दुकान से घर का कोई सामान लेने गई थी जहाँ से आरोपी कुलदीप उसे दिन भर बाहर घूमता रहा और रात के समय चुपचाप अपने ही घर की तीसरी मंजिल पर ले गया और उसके हाथ पैर बांध दिये और बेल्ट व लोहे के तार से पीटा और उसके साथ बलात्कार को अंजाम दिया इतना ही नही रात भर उसके साथ रहने के बाद दिन में वह उसे कमरे की टाँड़ पर हाथ पैर बांध ओर मुह में कपड़ा ठूस कर सुबह निकल जाता और फिर रात को नशे में आता और फिर वही हैवानियत दिखाता बेल्टों से पिटता ओर मुह में कपड़ा ठूस कर उसके साथ बलात्कर करता बेचारी पीडिता अपने दर्द पर चीख भी नही सकती थी, दूसरी ओर  बच्ची के गायब होने की वजह से परिजन भी परेशान थे उन्होंने कई जगह बच्ची को तलाश किया पर वह नही मिली पुलिस थाने में भी कोई कार्यवाही नही हुई ,न ही FiR लिखी गई परिजनों को  कुलदीप पर पहले से ही शक था क्योंकि वह बच्ची को अक्सर ही परेशान करता था उन्होंने उसके घर भी पता किया लेकिन वहाँ से भी कोई सुराग नही मिला वह लगातार अपनी बेटी को ढूंढ रहे थे! 
अचानक से दसवे दिन बच्ची अमन विहार स्थित अपने घर पर पहुची, जब माँ की नज़र बेटी पर पड़ी तो उन्होंने देखेया की बेटी की हालत बहुत ही ज्यादा खराब थी जगह जगह चोट के निशान थे और बच्ची भूख और प्यास से बदहाल थी,  बच्ची की माँ ने जब उसे देख तो वह भी घबरा गई और उन्होंने तुरंत उसके पिता को फोन किया और बुलाया,  इस बीच माँ के पानी पिलाने ओर थोड़ा सामान्य होने पर पीडिता ने सारी बात माँ और अपने पिता को बताई की किस तरह से उसके साथ हैवानियत हुई है,  पूरे दस दिनों तक हैवान कुलदीप ने जो हैवानियत उसके साथ कि उसे बयान नही किया जा सकता,  10 दिन तक न जाने कितनी ही बार उसके साथ बलात्कार किया गया, लड़की चीख न सके इसके लिए उसके मुह में कपड़ा ठूस कर रखा गया, भूखे प्यासे रक्खा पागलो की तरह बेल्ट, ओर लोहे की तार से पीटा गया और यहाँ तक कि किसी को पता न चले घर की छोटी सी टाँड़ पर उसे छुपाया गया,वारदात ऐसी जो साडी हैवानियत ही पार कर दे  लेकिन मौका देख एक दिन जब कुलदीप उसे बंधना भूल गया तो बच्ची उसके चुंगुल से भागने में कामयाब हो गई और सारी हैवानियत की कहानी बयान की जिसके बाद अमन विहार पुलिस ने मामला दर्ज कर उसे से संजय गांधी हॉस्पिटल में  भर्ती कराया जहाँ तीन दिन उपचार के बाद वह घर आई!
लेकिन अब भी उसे ओर उसके परिवार को डर है क्योंकि हैवान कुलदीप पुलिस की गिरफ्त से बाहर है इर लगातार उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है, वही बच्ची के जिस्म पर दिख रहे हैवानियत के निशान भी कुलदीप की हैवानियत की गवाही दे रहे है जिस हैवानियत ने उस की आत्मा को भी घायल कर दिया है जो अब भी अपने घर मे सिसक रही है डर रही है ओर आरोपी  हैवान कुदीप सलाखों से बाहर है, यदि पुलिस मौके रहते मामले को गंभीरता से लेकर पहले ही कुलदीप के घर की तलासी ले लेती तो शायद उसपर इतनी हैवानियत न हो पाती ,पुलिस को चाहिए कि जल्द से जल्द आरोपी कुलदीप को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज कर उसकी हैवानियत पर अंकुश लगाए ताकि कोई और बच्ची उसका शिकार न होने पाये!
स्पेशल डेस्क,आपकी चौपाल न्यूज़, दिल्ली!

COMMENTS

error: Content is protected !!