फिरोजपुर : 90 एकड़ फसलों में लगी भीषण आग

फ़िरोज़पुर जिले में 90 एकड़ के क़रीब गेहूं की फ़सल आग के हवाले , कहीं शॉर्ट सर्किट और कहीं कम्बाईन से निकली चिंगारी से लगी आग!
किसान की ज़िन्दगी उसकी फसल है जिसे वह अपने खून पसीने से सींच कर लहलहाने पर मजबूर करता है, किसान अपनी ऊर्जा और मेहनत को पूरी तरह उस फसल के हवाले कर देता है जिस पर उसकी उम्मीदों का बांध होता है, अगर उनकी लहलाती फसल किसी कारणवश ख़राब हो जाए या जल जाए तो उनकी दर्द को बयां कर पाना बहुत मुश्किल है, एक ऐसी ही घटना फ़िरोज़पुर के मल्लावाला के साथ लगते गाँव बंडाला और गुरु हरसहाए में चक्क सैदो के में किसानों की खड़ी गेहूँ की फ़सल कंबाइन से चिंगारी निकलने से राख हो गई, हर साल  गेहूं की फ़सल में आग लगने का सिलसिला जारी रहता हैं, इस साल भी फ़िरोज़पुर में बात करें तो बंडाला और गुरुहरसहाय के कुछ गांवों में आग लगने से क़रीब 90 एकड़ गेहूं की फ़सल बर्बाद हो गई! 
 
किसानों का कहना है कि उन्होंने ख़र्चा कर 6 महीने से अपनी फ़सल को पाला पोसा था जो एक मिनट में जल कर राख हो गई, किसानों ने यह भी कहा के हमें  आढ़तियों और बैंकों का कर्ज़ देना है अब उनकी फ़सल तो जलकर राख हो गई है वो अपना करज कहाँ से अदा करेंगे, उन्होंने सरकार से गुहार लगायी है के जहाँ उनको बनता मुआवज़ा दिया जाए वहाँ उनके कर्ज़ को भी मुआफ किया जाए,  किसानों का कहना था कि उनके पास आगे धान की फ़सल की बुआई के लिए उनके पास कोई पैसा नहीं बचा, सरकार उन्हें जल्द ही मुआवज़ा दें ताकि वो धान की फ़सल लगा सके !
 
यह बता दें कि गेहूं की फ़सल में आग लगने के कई कारण हैं जिनमें दो कारण मुख्य हैं एक है टरैकटर और कंबाइंन से निकलने वाली चिंगारी और दूसरा है खेतों में नीचे झुकें हुई बिजली की तारें , किसानों का कहना है के बिजली विभाग इन पर कोई ध्यान नहीं देता उनके बार बार कहने के बावजूद भी बिजली विभाग खेतों में निकलती तारों को कसने की कोई व्यवस्था नहीं करता, दूसरी तरफ़ फ़िरोज़पुर के डिप्टी कमिशनर रामवीर और तहसीलदार मनजीत सिंह का कहना है कि इनके खेतों की गिरदावरी कार जल्द ही रिपोर्ट सरकार को भेज दी जाएगी और इनको बनता मुआवज़ा जल्द दिया जाएगा है!
स्पेशल डेस्क,आपकी चौपाल न्यूज़, फिरोजपुर! 

COMMENTS

error: Content is protected !!