कलयुगी माँ ने 7 महीने के मासूम के साथ की हैवानियत

देश की राजधानी दिल्ली के अमन विहार इलाके में कलयुगी माँ ने अपने महज 7  महीने के दूध मुहे बेटे की बड़े ही वेहशियाना तरीके से सर कुचल,धड़ से अलगकर की निर्मम हत्या कर दी, महिला के पति का आरोप 4 साल पहले भी महिला 2 महीने के बेटे की हत्या कर चुकी है, किसी तांत्रिक क्रिया के चलते हत्या की आशंका, पुलिस मामला दर्जकर जांच में जुटी!
 
आजतक हम सब ने पूत कपूत होने की कहावत खूब सुनी और देखी है लेकिन जुर्म की इस वारदात ने इस कहावत को ही उल्टा साबित कर दिया है, बाहरी दिल्ली के थाना अमन विहार इलाके के जानकी विहार स्थित इस घर में 29 साल की सारिका नाम की इस महिला ने अपने ही महज़ 7 महीने के सगे बेटे की बड़ी ही हैवानियत और वेहशियाना तरीके से निर्मम हत्या कर दी, महिला के पति के अनुसार जब देर रात करीब 1 बजे के बाद वो काम से अपने घर आया तो कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था, जिसके बाद जब दरवाजा खुला तो अंदर का नज़ारा देखकर उसके होश फाख्ता हो गए, महिला के पति के अनुसार अंदर उसकी पत्नी अपनी गोद मे 7 महीने के बेटे चिराग के शत-विक्षित शव को लेकर बैठी थी जिससे बहुत सारा खून बह रहा था, साथ ही बच्चे का सर धड़ से अलग ज़मीन पर कुचला पड़ा हुआ था, जिसके बाद पति ने बदहवास हालात में जैसे तैसे अपने परिवार के दूसरे लोगो को फोन कर बुलाया और फिर पुलिस को सूचना दी गयी!
सूचना के बाद मौके पर पहुँची पुलिस ने भी जब कमरे के अंदर का नज़ारा देखा तो वो भी हैरान हो गए, मौका-ए-वारदात के आस-पास रहने वाले लोगो को यकीन नही आ रहा है कि एक माँ अपने सगे बेटे जोकि महज़ 7 महीने का हो उसकी इतनी वेहशियाना तरीके से निर्मम हत्या कर सकती है,  आरोपी महिला के पड़ोसी और घटना के चश्मदीदों ने बताया कि जब उन्होंने अंदर जा कर देखा तो महिला के मुँह पर भी काफी खून लगा हुआ था, जिसे देखकर लग रहा था कि उसने हत्या करने के बाद अपने ही बेटे का खून भी पिया है, शायद किसी तांत्रिक क्रिया या बली के चलते निर्मम हत्याकांड की इस वारदात को अंजाम दिया गया है, हांलकि एक अन्य पड़ोसी ने बताया कि महिला की मानसिक स्थिति भी कुछ ठीक नही है और करीब 4 साल पहले भी इसने ऐसे ही अपने महज़ 2 महीने के बेटे ही हत्या कर दी थी लेकिन उस समय परिवार ने ये समझकर सारी बात छुपा ली थी कि उसकी मानसिक हालात ठीक नही है!
जब इस विषय के हमने महिला के पति से पूछा तो उन्होंने भी बताया कि महिला की मानसिक स्थिति कुछ खराब है जिसका इलाज भी चल रहा है उन्होंने यह भी बताया कि बच्चें की हत्या के बाद आरोपी महिला ने अपने आप पर भी किसी धारदार हथियार से वॉर किये थे और वो अभी मंगोल पूरी स्थित संजय गाँधी अस्पताल में भर्ती है पति ने यह भी माना कि  आज से करीब 4 साल पहले भी वो अपने ही एक अन्य सगे बेटे की हत्या कर चुकी थी जोकि महज़ 2 महीने का था, लेकिन तब हमने ये सोचकर किसी को कुछ नही बताया कि शायद अपनी मानसिक बीमारी के चलते इसने पहले बच्चे को मार डाला है, आरोपी महिला की शादी करीब 10 साल  पहले हुई थी, जिसके बाद उसकी 2 अन्य बेटियाँ भी हैं जिन्हें वो कुछ नही कहती, और इसी डर के चलते दोनों बच्चियाँ घर के पास ही दुसरे मकान में अपने दादा दादी के साथ रहती है, वारदात के बाद से ही परिवारक रो-रो कर बुरा हाल है और उन्हें यकीन नही हो रहा है उनके घर का चिराग अब बुझ चुका है!
बरहाल मौके पर पहुँची अमन विहार थाना पुलिस ने बेटे  के शव को कब्जे में लेकर शव गृह में रखवा दिया है, जबकि आरोपी महिला संजय गाँधी अस्पताल में भर्ती है, और अब पुलिस मामला दर्जकर तफ़्तीश में जुट गई है,हत्या की वजह कोई तांत्रिक क्रिया है या फिर महिला की मानसिक स्थिति ये जांच के बाद ही साफ हो पायेगा,लेकिन  जिस तरीके से एक माँ अपने ही 7 महीने के बच्चे की इतनी निर्ममता से  हत्या कर दी है उसपर यकीन कर पाना बहुत मुश्किल है, लेकिन सच यही है कि इस वारदात ने सभीे को अंदर तक झकझोर दिया है!
 

स्पेशल डेस्क,आपकी चौपाल न्यूज़, अमन विहार दिल्ली! 

COMMENTS

error: Content is protected !!