12 साल तक की मासूम से रेप करने पर सजा-ए-मौत हुई मुक़र्रर

12 साल तक की मासूम से रेप करने पर सजा-ए-मौत हुई मुक़र्रर

 

 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पोक्सो एक्ट में संशोधन और भगोड़े आर्थिक अपराधी अध्यादेश 2018 को मंजूरी दे दी, शनिवार को ही प्रधानमंत्री आवास पर केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में ये दोनों अध्यादेश लाए गए थे, इसे मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा गया था जिसे राष्ट्रपति ने भी बिना देर किए इन पर मुहर लगा दी, आपकी बता दें कि राष्ट्रपति से दोनों अध्यादेशों को मंजूरी मिलते ही अब ये कानून बना गया है और अब 12 साल तक के मासूमों से रेप के दोषियों को मौत की सजा मिलेगी, कैबिनेट ने ‘प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस’ यानी पोक्सो एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव किया था!

जम्मू के कठुआ और उत्तर प्रदेश के एटा में नाबालिग बच्चियों के साथ रेप की घटनाओं ने देश को झकझोर कर रख दिया है, जिसके बाद सरकार ने नाबालिगों से रेप करने वालों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान करने का फैसला लिया है, अभी तक इस कानून में दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान नहीं था, कठुआ में आठ साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार और उसके बाद हत्या की घटना के बाद से ऐसे अपराध के लिए फांसी की सजा की मांग उठ रही थी, नाबालिगों से बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को लेकर राहुल गांधी ने भी ट्वीट करके प्रधानमंत्री का ध्यान इस ओर खींचा था!

स्पेशल डेस्क,आपकी चौपाल न्यूज़! 

COMMENTS

error: Content is protected !!