रोडरेज केस: 30 साल बाद, नवजोत सिंह सिद्धू पर फैसला आज

रोडरेज केस: 30 साल बाद, नवजोत सिंह सिद्धू पर फैसला आज

नवजोत सिंह सिद्धू  (कैबिनेट मंत्री) के खिलाफ 30 साल पुराने रोडरेज केस में सुप्रीम कोर्ट आज अपना फैसला सुनाएगा | पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने फैसले को पलटते हुए उनको गैर इरादतन हत्या का दोषी पाया और तीन साल कैद की सजा सुना दी थीनवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है| इसी पर आज फैसला आना है| 27 दिसंबर 1988 को पटियाला में सड़क पर 65 वर्षीय गुरनाम सिंह से बहस के बाद मुक्का मारने से उनकी मौत हो गई थी|  जिसका आरोप सिद्धू पर लगा था| फिलहाल उनकी सजा पर रोक है और केस की सुनवाई जारी हैमृतक के परिजनों ने पिछली सुनवाई के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा 2012 में एक चैनल को दिए गये इंटरव्यू को सबूत के तौर पर पेश किया गया था| जिसमे  सिद्धू ने स्वीकार किया था कि उनकी पिटाई से ही गुरनाम सिंह की मौत हुई थी| 12 अप्रैल को सुनवाई के दौरान पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि सिद्धू ने झूठ बोला कि वह घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे|

इस बयान ने बढा दी सिद्धू की परेशा

सुप्रीम कोर्ट में कहा कि 30 साल पुराने रोडरेज केस में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू को दोषी ठहराए जाने का फैसला सही है| सिद्धू अभी पंजाब सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति और स्थानीय निकाय मंत्री हैं|  सरकार के कोर्ट में दिए इस बयान ने सिद्धू की परेशानी बढ़ा दी थी| 

COMMENTS

error: Content is protected !!