Web
Analytics
मासूम आंचल की तस्वीरें आईं सामने, सनकी आशिक ने कटर से दी बेरहम मौत | Aapki Chopal

मासूम आंचल की तस्वीरें आईं सामने, सनकी आशिक ने कटर से दी बेरहम मौत

मासूम आंचल की तस्वीरें आईं सामने, सनकी आशिक ने कटर से दी बेरहम मौत

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के,औद्योगिक क्षेत्र बरोटीवाला के हिल व्यू अपार्टमेंट में सेहेली के साथ रह रही बीस वर्षीय आंचल,की सनकी आशिक ने कटर से गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी। वारदात के दौरान कमरे में,आंचल की सहेली मीनाक्षी भी थी। जब वह उसे बचाने के लिए आई तो,आरोपी ने उस पर भी जानलेवा हमला कर दिया। इससे वह बुरी तरह जख्मी हो गई। उसे उपचार के लिए पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया है। पुलिस ने आरोपी को बद्दी से गिरफ्तार कर,वारदात में इस्तेमाल कटर भी बरामद कर लिया है। आरोपी अखिल (20) पुत्र रामकुमार निवासी,गांव देहलां जिला ऊना का रहने वाला है। जबकि वारदात की शिकार हुई,युवती आंचल चौहान पुत्री रणजीत सिंह निवासी बड़ूई,डाकघर चौकी बंगार,तहसील बंगाणा,जिला ऊना की ही रहने वाली थी। वारदात में घायल युवती मीनाक्षी कुमारी पुत्री खेम सिंह,निवासी दभोटा नालागढ़ की रहने वाली है। पुलिस के अनुसार तीनों एक निजी कंपनी में इंटर्नशिप कर रहे थे। दोनों युवतियां हिल व्यू अपार्टमेंट में,जबकि आरोपी पास में ही रहता है। आंचल और अखिल की पिछले दो साल से दोस्ती थी, लेकिन किन्हीं कारणों से आंचल ने दोस्ती तोड़ दी थी। बुधवार शाम से अखिल ने कई फोन किए,लेकिन आंचल ने फोन नहीं सुना और तंग आकर उसने अखिल का मोबाइल नंबर ब्लैक लिस्ट कर दिया। इससे खफा होकर अखिल तड़के करीब पांच बजे अपार्टमेंट में आ गया और दरवाजा खटखटाने लगा। काफी देर बाद आंचल ने दरवाजा खोला,तो उसे किचन में ले गया। जहां दोनों में बहस शुरू हो गई। अखिल बार-बार उसका फोन न उठाने का कारण पूछता रहा। कटर गर्दन पर रखकर धमकियां देने लगा। आंचल की सहेली मीनाक्षी ने उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन हमलावर ने आंचल का गला रेत दिया। मीनाक्षी पर भी हमला कर फरार हो गया। आंचल की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि हमले में घायल मीनाक्षी ने क्वार्टर से बाहर आकर आसपास के लोगों को वारदात की जानकारी दी। उसने ही आरोपी का नाम भी लोगों को बताया। इसके बाद उसे पीजीआई ले जाया गया। बरोटीवाला हिल व्यू अपार्टमेंट में बी-फार्मा कंपनी में इंटर्नशिप कर रही,आंचल की हत्या में मोबाइल नंबर ब्लॉक करना मौत की बड़ी वजह बन गई। हत्या के बाद पुलिस की तफ्तीश में इस बात का खुलासा हुआ है। आंचल और आरोपी अखिल दोनों एक ही उद्योग डॉ. रेड्डी लैब भुड्ड में इंटर्नशिप कर रहे थे। उन्हें 8-8 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय मिलता था। दोनों 2016 से एक-दूसरे को जानते थे,लेकिन अगस्त 2017 से दोनों में ब्रेकअप हो गया था। हाल ही में आंचल ने अखिल का मोबाइल नंबर ब्लॉक लिस्ट में डाल दिया, जिससे गुस्साए अखिल ने तालीबानी अंदाज में उसे मौत के घाट उतार दिया। हत्या के वक्त आंचल की सहेली उससे सिर्फ चंद कदमों की दूरी पर ही थी,और आरोपी से उसकी सहेली को बख्श देने की गुहार लगा रही थी। हत्या का शिकार हुई युवती की गर्दन पर आरोपी ने कटर फंसा रखा था,और बार-बार उसे मौत के घाट उतार देने की धमकी दे रहा था। यह घटनाक्रम करीब दस मिनट तक चलता रहा। इस दौरान दोनों युवतियां रहम की भीख मांगती रहीं। लेकिन कातिल का दिल नहीं पसीजा। दस मिनट तक लंबी वार्तालाप के बाद उसने गर्दन पर रखे कटर को एक झटके में खींच दिया,जिससे आंचल के गले से खून बहने लगा, वो फर्श पर तड़पने लगी। आरोपी उसे तड़पता छोड़ आंचल की सहेली मीनाक्षी पर झपटा, उसने उस पर भी ताबड़तोड़ कई वार किए,और मौके से फरार हो गया। यह पूरी वारदात अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 304 बी-9 में हुई। पूरे अपार्टमेंट में कई परिवार रहते हैं। लेकिन कोई भी मौके पर कमरे में फंसी दोनों युवतियों को बचाने के लिए नहीं आया। घायल मीनाक्षी ने जो जानकारी पुलिस को दी है वो भी दिल दहला देने वाली है। बेहोश होने से पहले उसने बताया कि उसके सामने ही उसकी सहेली आंचल का आरोपी ने गला रेत दिया और फर्श पर तड़प-तड़प कर उसने दम तोड़ दिया। एसपी बद्दी रानी बिंदू सचदेवा ने पीजीआई पहुंचकर घायल युवती से सारी घटना की जानकारी हासिल की। गिरफ्तार किए गए,युवक अखिल से क्रॉस वेरिफाई किया गया और सारे तथ्य सामने आ गए। उन्होंने बताया कि पुलिस इस मामले में कड़ी कार्रवाई अमल में लाएगी। हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस की टीम को मौके पर भेजा गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही हत्या में इस्तेमाल कटर भी बरामद कर लिया है। सचदेवा ने बताया कि आरोपी ने हत्या का गुनाह कुबूल कर लिया है और इसकी वजह प्रेम प्रसंग और मोबाइल फोन पर बात न करना बताया है।

COMMENTS

error: Content is protected !!