Web
Analytics
दस लाख बैंककर्मी आज से दो दिन की हड़ताल पर, सैलरी में देरी, ATM पर भी संकट संभव | Aapki Chopal

दस लाख बैंककर्मी आज से दो दिन की हड़ताल पर, सैलरी में देरी, ATM पर भी संकट संभव

दस लाख बैंककर्मी आज से दो दिन की हड़ताल पर, सैलरी में देरी, ATM पर भी संकट संभव

वेतन बढ़ोतरी के मुद्दे को लेकर आज देश के सभी सरकारी बैंकों के अलावा कुछ निजी व विदेशी बैंकों के तकरीबन 10 लाख कर्मचारी दो दिनों की हड़ताल पर जा रहे हैं। हड़ताल की वजह से आज आपको बैक‍िंग सेवाएं लेने में दिक्कतें पेश हो सकती हैं, हड़ताल से देश की बैंकिंग व्यवस्था पर काफी बुरा असर पड़ने की आशंका है लेकिन इसका सबसे ज्यादा खामियाजा सरकारी बैंकों को उठाना पड़ सकता है, सरकारी क्षेत्र के 17 बैंकों को पिछली तिमाही में 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का घाटा हो चुका है, ये बैंक आगे का काम चलाने के लिए सरकार से अतिरिक्त वित्तीय मदद मांग रहे हैं, ऐसे में दो दिनों की हड़ताल से इन पर वित्तीय दबाव और बढ़ सकता है, एनपीए वसूली जैसी        गतिविधियों पर भी असर होगा, 


इस हड़ताल से बैंक ग्राहकों पर भी असर होगा, चूंकि हड़ताल महीने के अंतिम दो दिनों (30 व 31 मई) को हो रही है, इन दो दिनों में तमाम सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों के कर्मचारियों का वेतन उनके बैंक खातों में ट्रांसफर किया जाता है, हड़ताल के चलते इसमें देरी हो सकती है, बैंक कर्मचारियों के तमाम संगठनों का शीर्ष संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) और केंद्र सरकार के बीच इस हड़ताल को टालने के लिए बुलाई गई वार्ता असफल साबित हुई है,

एसबीआइ, बैंक आफ बड़ौदा, केनरा बैंक समेत कई बैंकों ने अपने कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने के खिलाफ चेतावनी दी है लेकिन इसका असर होता नहीं दिख रहा है, कर्मचारी संगठनों का कहना है कि पिछले पांच वर्षो से कर्मचारियों के वेतन व भत्तों में बढ़ोतरी नहीं हुई है, कर्मचारी संगठनों और भारतीय बैंकसंघ (आइबीए) के बीच इस बारे में दस दौर की बातचीत हुई लेकिन उसका खास नतीजा नहीं निकला, इनका यह भी कहना है कि आइबीए की तरफ से वेतन व भत्तों में महज दो फीसद वृद्धि का प्रस्ताव किया गया था जो मंजूर नहीं है,

COMMENTS

error: Content is protected !!