Web
Analytics
सांसद ने लगाया करोड़ों लेकिन रेलवे स्टेशन फिर भी बदहाल । | Aapki Chopal

सांसद ने लगाया करोड़ों लेकिन रेलवे स्टेशन फिर भी बदहाल ।

नरेला रेलवे स्टेशन यह रेलवे 132 साल पुराना है ,जो एक हेरिटेज है,नरेला रेलवे स्टेशन के सौन्दर्यकरण के लिए बीजेपी सांसद डॉक्टर उदितराज ने लगभग 1 करोड़ 50 लाख रुपये अपने सांसद फंड से नरेला स्टेशन पर जनसुविधाओ , साफ़ सफाई और पीने के पानी की व्यवस्था पर खर्च किये गए , ये स्टेशन लाहौर , जम्मू , पंजाब की तरफ से तरफ आने पर दिल्ली का पहला स्टेशन है यह पेंटिंग और चित्रकारी के हिसाब से भी पहला स्टेशन बन गया हैं ,अब नरेला के लोग अपने रेलवे स्टेशन पर गर्व करने लगे है लेकिन यह क्या जनसुविधा के लिए न तो यहाँ पानी की व्यवस्था हैं ना ही टॉयलेट की।  

नरेला रेलवे स्टेशन एक ऐसा स्थान है जहां एशिया की सबसे बड़ी अनाज़ मण्डी और बहुत बड़ा उधोग क्षेत्र है और उसके साथ ही कई एनसीआर के दर्जन गांव भी जुड़े हुए है ,हज़ारो यात्रियों का यहाँ से रोज आना जाना लगा रहता है लेकिन यहाँ पीने के पानी की कोई व्यवस्था नहीं है ,सांसद निद्धि खाते से कुछ दिन पहले यहाँ आरओ लगवाया गया लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि वह आरओ अभी तक चला ही नहीं ,पीने के पानी की गर्मी के  मौसम में बहुत बड़ी समस्या होती है,हर व्यक्ति को पानी की जरूरत होती हैं , फेडरेशन ऑफ़ नरेला के अध्यक्ष और स्थानीय लोगो का कहना हैं कि यहाँ जनता के सहयोग से एक प्याऊ काफी पहले लगवाया था लेकिन अधिकारियों के अड़ियल रवैये ने प्याऊ को बंद करवा दिया , अब पीने के पानी का इस  स्टेशन पर ना मात्र का हैं क्योंकि नरेला अपने आप में एक सबसिटी का दर्जा प्राप्त कर चूका है फिर भी पीने के पानी की समस्या बरकरार हैं , जो भी पैसेंजर टिकट लेता हैं उसे रेलवे की तरफ से सभी  सुविधा मिलनी चाहिए लेकिन सुविधा नाम की कोई व्यवस्था पैसेंजर को यहाँ नही मिलती हैं ऐसे में आरोपी अधिकारियों पर कार्यवाही होनी चाहिए।

नरेला रेलवे स्टेशन पर रोज हज़ारों लोगो का आना जाना लगा रहता है लेकिन टॉयलेट की हालत देख कौन कहेगा कि कुछ वक़्त पहले ही सांसद निधि फंड से नरेला स्टेशन पर जनसुविधाओ , साफ़ सफाई और पीने के पानी की व्यवस्था पर खर्च किये गए थे , आज उनकी खस्ता हालत ऐसा दर्शाती है कि कही न कही सांसद निधि फंड से आये पैसो का मिस यूज़  हुआ है क्योंकि जो टॉयलेट पुरुष और महिलाओ के लिए बनाया गया था उसकी हालत खराब हुई पड़ी है, आप खुद देखिये इन टॉयलेट की खस्ता और गन्दी हालत।

नरेला रेलवे स्टेशन एक  हेरिटेज के रूप जाना जाता हैं ,रोजाना यहाँ से हज़ारो लोगो का आमा गमन लगा रहता है लेकिन सांसद फंड लगने के बाद भी यहाँ किसी प्रकार की कोई जनसुविधा , साफ़ सफाई और पीने के पानी की व्यवस्था  नहीं हैं जिसे देख यह लगता हैं कि कही ना कही सांसद निधि फंड का दुरूपयोग हुआ हैं ,अगर ऐसा हुआ हैं तो दोषी आरोपियों पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए।

इस समस्या के बारे में जब आपकी चौपाल टीम ने सांसद उदितराज को अवगत कराया तो उन्होंने कहा कि मैंने फंड जारी कर लोगों की सुविधा के लिए 1 करोड़ 50 लाख की लागत से आर.ओ और टॉयलेट का निर्माण करा दिया हैं लेकिन उनका ध्यान रखना अधिकारियों और आम जनता का काम भी हैं, आप ने हमे इस और ध्यान कराया हैं और अब कुछ दिनों के अंदर ही हम उचित कार्यवाही करेंगे इस मामले पर और दोषी अधिकारियों पर भी कार्यवाही की जाएगी।

बहराल देखना अब यह होगा कि सांसद साहब कब तक इस मुद्दे पर एक्शन लेते हैं ।

स्पेशल डेस्क आपकी चौपाल न्यूज़ ,नरेला दिल्ली

COMMENTS

error: Content is protected !!