Web
Analytics
दिल्ली: नरेला सर्वोदय स्कूल का मिड-डे मिल बच्चों के लिए बना ज़हर । | Aapki Chopal

दिल्ली: नरेला सर्वोदय स्कूल का मिड-डे मिल बच्चों के लिए बना ज़हर ।

दिल्ली के नरेला एरिया के बाँकनेर गांव में मिड डे मील खाने से 26 बच्चियां बीमार । बच्चियों ने बताया कि मिड डे मील खाते ही बच्चियों के पेट मे दर्द होने लगा और बच्चियों ने खाने में छिपकली देखी और इसके बाद 26 बच्चियों को नरेला के सत्यवादी राजा हरिश्चंदर अस्पताल लाया गया है ,हॉस्पिटल के डॉ ने कहा यहां 26 बच्चियों के इलाज जारी है और हालत में सुधार है ।
पेरेंट्स ने कहा कि वह अपने बच्चों को स्कूलों में मिड डे मील नहीं खाने देंगे,  जहर खाने से अच्छा है वह घर से ही खाना बना कर देंगे।  पेरेंट्स ने कहा कि स्कूल का में दिया गया कोई भी खाना बच्चे हम नहीं खाएंगे।  फिलहाल इस तरह की बढ़ती घटनाओं से पेमेंट की चिंता होना भी लाजमी है और लोगों का रुझान मिड डे मील से हट रहा है।
 नरेला में मिड डे मील खाने से 26 बच्चे अस्पताल में भर्ती होने के बाद दिल्ली सरकार के मंत्री राजेंद्र पाल गौतम बच्चों से मिलने पहुंचे हैं। स्कूल की छात्राओं ने बताया कि उन्होंने खाने में छिपकली देखी हैं,राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि जो संस्था मिड डे मील तैयार करके भेजती है जांच में कमी मिली तो उसको ब्लैक लिस्ट किया जाएगा।  साथ ही कहा कि इंस्पेक्शन के बाद भी इस तरह की घटनाएं हो रही है तो चिंता का विषय है,वही छात्राओं के परिजनों ने मंत्री साहब के काफ़िले को रुकवा कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग करी ।
दिल्ली में इस सप्ताह में दो सरकारी स्कूलो में मिड डे मील में छिपकली मिलने की घटनाएं चिंता का विषय है ,नरेला थाना पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।  साथ ही दिल्ली सरकार भी पूरे मामले की जांच कर रही है और खाना सप्लाई करने वाले संस्था के संचालक को हिरासत में ले लिया गया है।  फिलहाल इन बच्चों का नरेला के सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में इलाज जारी है।
स्पेशल डेस्क आपकी चौपाल न्यूज़ ,नरेला दिल्ली

COMMENTS

error: Content is protected !!