Web
Analytics
दिल्ली में बढ़ते हुए यमुना के पानी में डूब रहे हैं मवेशी। | Aapki Chopal

दिल्ली में बढ़ते हुए यमुना के पानी में डूब रहे हैं मवेशी।

 

हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से छोड़ा गया कई लाख क्यूसेक पानी, अब दिल्ली पहुंच चुका है,दिल्ली में यमुना का जलस्तर लोहे के पुल के पास 205.72 है और उस पॉइंट पर खतरे का निशान 203.83 है,फ्लड विभाग का पूर्वानुमान है कि आज 31 जुलाई को शाम 4:00 बजे तक यमुना का जलस्तर 206.50 तक पहुंच सकता है जिसमें लोहे का पुल भी डूब सकता है,इसी कारण आज भी लोहे के पुल के ऊपर से ट्रेनों की आवाजाही रोक दी गई है।

फिलहाल दिल्ली के पल्ला,  झंगोला,  बुराड़ी, जगतपुर की सैकड़ों एकड़ जमीन पानी में डूब गई है जिसमें किसानों की फसल पूरी तरह तबाह हो गई है, कई किसानों के मवेशी तक यमुना में फंसे हुए हैं कुछ लोग मवेशियों को निकालने के लिए अपनी जान भी जोखिम में डाल रहे हैं,जगतपुर गांव के खेतो में श्याम घाट के पास कुछ मवेशी यमुना में फंसे तो उन्हें निकलने के लिए उन लोगो ने अपनी जान खतरे में डाल दी और यमुना में चले गए फिर उस शख्स को बचाने के लिए लोग पहुंचे।  फिलहाल स्थानीय लोगों का कहना है कि अब वह यमुना पर इस बात की भी निगरानी रख रहे हैं कि कोई अपने मवेशियों को निकालने के चक्कर में खुद की जान गवा बैठे।  इसलिए गांव की आरडब्ल्यूए भी अपनी तरफ से पहरा दे रही है साथ में पुलिस फोर्स को भी जगह-जगह पर लगाया गया है।

फिलहाल यमुना में परसों छोड़ा गया छे लाख क्यूसेक पानी चल रहा है साथ ही  उसके बाद दो किस्तों में पांच – पांच लाख क्यूसेक पानी और उसी दिन छोड़ा गया था वह भी यमुना में आ रहा है जो लगातार जिस कारण यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है । अब जरूरत है ऐसे में दिल्ली के लोग भी अलर्ट रहें साथ ही बुराड़ी, झंगोला, पल्ला ,  जगतपुर ,  वजीराबाद इन गांव के रिहायशी एरिया को फिलहाल कोई खतरा नहीं है क्योंकि गांव और खेतों के बीच में करीब 10 फुट ऊंचा बांध बना हुआ है जिसे पानी पार नहीं कर पाएगा। बांध के दूसरी तरफ फसल पूरी तरह बर्बाद जरूर हो गई है जिसके मुआवजे की मांग अब दिल्ली सरकार से यहां के किसान कर रहे हैं।

स्पेशल डेस्क आपकी चौपाल न्यूज़ दिल्ली

COMMENTS

error: Content is protected !!