Web
Analytics
कृषि कुंभ में पीएम मोदी | Aapki Chopal

कृषि कुंभ में पीएम मोदी

कृषि कुंभ में पीएम मोदी

राजधानी लखनऊ में शुक्रवार से तीन दिवसीय कृषि कुंभ का आगाज हो गया, कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा किया,26 से 28 अक्टूबर तक भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान (आईआईएसआर) में चलने वाले इस आयोजन में बड़ी संख्या में कृषि वैज्ञानिक, विशेषज्ञ और प्रगतशील किसान जुटेंगे, जो प्रदेश भर से आने वाले किसानों को पारंपरिक खेती में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर आय बढ़ाने के गुर बताएंगे,इसमें 14 तकनीकी सत्र होंगे।

 

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयोजन के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ व उनकी टीम को बधाई देते हुए कहा कि कृषि कुंभ आने वाले तीन दिनों में खेती को बेहतर करने के लिए रास्ते खोलेगा,पीएम मोदी ने कहा कि 2022 में जब देश की आजादी के 75 साल पूरे होंगे तब तक किसानों की आय दोगुनी हो इसके लिए सरकार संकल्पबद्घ है, किसानों के लिए बीज से लेकर बाजार तक की एक मजबूत व्यवस्था देश में तैयार की जा रही है।

कुछ महीने पहले कृषि उन्नति मेले के दौरान मैंने किसान मेले लगाने की सलाह दी थी, कृषि कुंभ इसका ही विस्तार है, इस आयोजन में लगभग 200 स्टॉल लगाए गए हैं जिनमें किसानों को तकनीक की जानकारी दी जा रही है, जिससे किसानों को खाद्यान्न की मात्रा बढ़ाने और उसकी गुणवत्ता बेहतर करने में मदद मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा कि इस बार भी देश में रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन होने की उम्मीद है और यूपी का किसान तो इतना मेहनती है कि देश भर का 20 फीसदी अनाज उत्पन्न करता है इसके लिए मैं आप सभी का अभिनंदन करता हूं।

उन्होंने किसानों की बेहतरी के लिए योगी सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी देते हुए कहा कि यूपी के किसान उत्पादन का रिकॉर्ड बनाते जा रहे हैं तो योगी सरकार भी खरीद का रिकॉर्ड तोड़ती जा रही है,इस बार गेहूं की लगभग 50 लाख मीट्रिक टन खरीद की गई है जबकि पहले की सरकारों में मात्र 7 या 8 लाख मीट्रिक टन की ही खरीद होती थी,सरकार ने रबी व खरीफ की 21 फसलों के समर्थन मूल्य में ऐतिहासिक बढ़ोतरी की है,इन फसलों पर लागत का कम से कम 50 प्रतिशत सीधा लाभ किसानों को मिले यह तय किया गया है,वहीं, गन्ना किसानों को मिल रहे लाभ का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि गन्ने की खरीद प्रक्रिया को लेकर भी परिवर्तन स्पष्ट दिख रहा है, इस सीजन का करीब 27 हजार करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान किसानों को किया जा चुका है,इतना ही नहीं, पिछले बकाए में भी 11 हजार करोड़ रुपये किसानों को दिए जा चुके हैं, पीएम मोदी ने कहा कि मुझे यह जानकर भी खुशी हुई कि यूपी सरकार ने पहली बार आलू खरीदने का भी फैसला किया है,इससे निश्चित तौर पर उन किसानों को लाभ मिलने वाला है जिनको आलू का उचित दाम नहीं मिलता था।

25 हजार किसान कृषि कुंभ में लेंगे हिस्सा

पहले दिन उद्घाटन के बाद तीन सत्र होंगे,इसके बाद दूसरे व तीसरे दिन 11 सत्र और होंगे, इसमें 25 हजार किसान भाग लेंगे,प्रत्येक जिले से किसानों को लाने ले जाने, ठहरने और उनके भोजन का बंदोबस्त किया गया है,कृषि कुंभ किसानों से जुड़ा यह पहला ऐसा आयोजन है जहां कृषि, शाकभाजी, उद्यान, पशुपालन, फूलों की खेती, खाद्य प्रसंस्करण, कृषि यंत्रीकरण, बागवानी, दुग्ध, मत्स्य सहित सभी सेक्टर के बारे में एक साथ विशेषज्ञ जानकारी देंगे,इस कृषि कुंभ में प्रदर्शनियां भी लगेंगी।

कृषि कुंभ में होने वाले सत्र :
पहला सत्र- पानी व कृषि निवेशों का उचित व प्रभावी प्रयोग।

दूसरा सत्र – कृषि संबंधी नीतियों व नियमों में सुधार पर चर्चा।
तीसरा सत्र- एग्रोक्लाइमेटिक जोन के आधार पर फसलोत्पादन

COMMENTS

error: Content is protected !!