Web
Analytics
निकाह रह जाएगा अधूरा अगर शादी में बजा बैंड बाजा और डीजे। | Aapki Chopal

निकाह रह जाएगा अधूरा अगर शादी में बजा बैंड बाजा और डीजे।

निकाह रह जाएगा अधूरा अगर शादी में बजा बैंड बाजा और डीजे।

बरेली: एक बार फिर शादी समारोह उलमा के निशाने पर हैं,शरीयत का हवाला देकर उलेमाओं ने फैसला लेते हुए यह कहा कि निकाह में बैंडबाजे और डीजे नहीं बजने चाहिए, उन्होंने यह तय किया है कि जहां शादियां बैंडबाजे और डीजे के साथ होंगी वहां निकाह नहीं पढ़ाएंगे।

यह पहली बार हुआ है जब एक साथ सभी मस्जिदों के इमामों ने शरई हुक्म पर फैसला सुनाया है उन्होंने कहा है कि ऐसी शादियों में जाएंगे ही नहीं जहां डीजे और बैंड बाज़ा होगा,उनका का कहना हैं कि अगर शादी में जाने पर पता लगता है कि बैंडबाजे के साथ बरात आ रही है, मैरिज हाल में डीजे का इंतजाम किया गया है तो वहां से निकाह पढ़ाए बगैर ही हम लौट आएंगे।

उलमा की बैठक में इस फैसले पर मुहर लगी  ,बैठक में मुफ्ती शहजाद आलम, जामा मस्जिद के इमाम हाफिज इस्लाम वारिस व अन्य कई उलेमा मौजूद रहे। सूत्रों के मुताबिक जामा मस्‍जिद के इमाम इस्‍लाम वारिस ने बताया कि जिन समारोह में बैंडबाजा बजेगा या फिर डीजे पर नाच गाना होगा, वहां इमाम निकाह पढ़ाने नहीं जाएंगे,यदि वहां पहुंचने पर पता चलता है कि ऐसा है तब भी बगैर निकाह पढ़ाए लौट हम आएंगे।

 

 

COMMENTS

error: Content is protected !!