Web
Analytics
करतारपुर कॉरिडोर को मोदी कैबिनेट की मंजूरी के बाद मची क्रेडिट लेने की होड़ | Aapki Chopal

करतारपुर कॉरिडोर को मोदी कैबिनेट की मंजूरी के बाद मची क्रेडिट लेने की होड़

करतारपुर कॉरिडोर को मोदी कैबिनेट की मंजूरी के बाद मची क्रेडिट लेने की होड़

गुरु नानक की जयंती से एक दिन पहले मोदी सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर मंजूरी दे दी है, केन्द्रीय कैबिनेट की इस मंजूरी के बाद काफी लंबे समय से प्रतीक्षारत भारत के अंदर करीब तीन किलोमीटर करतार साहिब कॉरिडोर को बनाया जाएगा बनने का रास्ता साफ हो गया है।

हरसिमरत बोली- अकाली की अपील पर सरकार ने किया फैसला

लेकिन, केन्द्रीय कैबिनेट के इस फैसले के बाद इसको क्रेडिट लेने की भी होड़ मच गई है, भारत सरकार में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री और अकाली नेता हरसिमरत कौर ने कहा कि अकाली दल की अपील पर केंद्र सरकार ने जो फैसला लिया है, वह इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करती हैं।

सिद्धू ने किया सरकार के फैसले का स्वागत

जबकि, दूसरी तरफ पंजाब के कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने भी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है, सिद्धू ने कहा कि दो पड़ोसी देशों के बीच पुल का काम करेगा, उन्होंने कहा कि मैने भारत सरकार से यह अनुरोध किया है कि इस बारे में पाकिस्तान सरकार को लिखे, मैं उम्मीद करता हूं कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के वादे के मुताबिक पत्र तैयार है, सिद्धू ने आगे कहा कि पाकिस्तान क पीएम इमरान खान से अनुरोध करता हूं कि करतारपुर साहिब कॉरिडर खोलने के लिए कदम उठाएं और बाबा नानक के भाईचारे औ शांति के संदेश को दुनिया में फैलाएं।

नवजोत सिद्धू के इमरान शपथ ग्रहण के दौरान पाकिस्तान जाने के बाद करतार कॉरिडोर सुर्खियों में आया था, सिद्धू ने अपने पाकिस्तान दौरे के इस मुद्दे को उठाया था।

सुखबीर बोले- सिद्धू कौन है?

उधर, अकाली नेता सुखबीर बादल ने यह पूछे जाने पर कि केन्द्र की तरफ से पाकिसतान सरकार को करतार कॉरिडोर के बनाने के लिए कहा जाएगा इस बारे में सुखबीर ने कहा- सिद्धू कौन है? सुखबीर ने आगे कहा कि यह पूरे सिख समुदाय के लिए ऐतिहासिक दिन है और इसके लिए पीएम मोदी और उनके कैबिनेट को धन्यवाद देना चाहूंगा, यह सभी सिखों की इच्छा थी,

भारत अंतरराष्ट्रीय सीमा तक बनाएगा कॉरिडोर

भारत पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक करतारपुर गलियारे का विकास करेगा ताकि पाकिस्तान में रावी नदी के तट पर स्थित गुरूद्वारा दरबार साहिब जाने वाले सिख श्रद्धालुओं को सुविधा मिल सके,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्ष में केंद्रीय मंत्रिमंडल की गुरूवार को हुई बैठक में इस आशय का निर्णय लिया गया , यह गुरू नानक देवजी की 550वीं जयंती को मनाने से संबंधित है ।

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा कि भारत सरकार पंजाब के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक करतारपुर गलियारे का विकास करेगी, इससे पाकिस्तान में रावी नदी के तट पर स्थित गुरूद्वारा दरबार साहिब जाने वाले सिख श्रद्धालुओं को सुविधा मिल सकेगी जहां गुरू नानक देवजी ने 18 वर्ष गुजारे थे ।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में कहा कि एक महत्वपूर्ण निर्णय में कैबिनेट ने गुरदासपुर से अंततराष्ट्रीय सीमा तक करतारपुर कारिडोर के विकास को मंजूरी प्रदान कर दी, करतारपुर कारिडोर परियोजना में केंद्र सरकार के वित्त पोषण से सभी आधुनिक सुविधाएं मुहैया करायी जायेंगी, इस संबंध में पाकिस्तान से भी उसके इलाकों में उपयुक्त सुविधाओं से लैस कारिडोर के विकास का आग्रह किया जायेगा।

 

COMMENTS

error: Content is protected !!