Web
Analytics
विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और उज्बेकिस्तान के बीच समझौता से मंत्रिमंडल को अवगत कराया गया | Aapki Chopal

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और उज्बेकिस्तान के बीच समझौता से मंत्रिमंडल को अवगत कराया गया

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और उज्बेकिस्तान के बीच समझौता से मंत्रिमंडल को अवगत कराया गया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल को विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और उज्बेकिस्तान के बीच समझौता से अवगत कराया गया, इस समझौते पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति श्री शौकत मिरायोयेव की उपस्थिति में नई दिल्ली में 1 अक्टूबर, 2018 को हस्ताक्षर किए गए थे, समझौते पर भारत की ओर से विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और उज्बेकिस्तान की ओर से वहां के नवाचार विकास मंत्री श्री अब्राहिम अब्दुरखमानोव ने हस्ताक्षर किए थे।

लाभः

समझौते पर हस्ताक्षर से द्विपक्षीय संबंधों में नया अध्याय प्रारंभ होगा, क्योंकि विज्ञान और प्रौद्योगिकी में पारस्परिक लाभ की मजबूतियों से दोनों देश लाभ उठाएंगे, इस समझौते का उद्देश्य दोनों देशों के बीच विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में सहयोग को प्रोत्साहित करना है, हितधारकों में वैज्ञानिक संगठनों के शोधकर्ताओं, अकादमी, अनुसंधान और विकास प्रयोगशालाओं तथा भारत-उज्बेकिस्तान के उद्योग शामिल हैं, सहयोग के संभावित क्षेत्रों में कृषि तथा खाद्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग विज्ञान, सूचना तथा संचार प्रौद्योगिकी, एप्लायड मैथेमेटिक्स, डाटा विज्ञान तथा टेक्नोलॉजी, स्वास्थ्य तथा मेडिकल टेक्नोलॉजी, धातु विज्ञान, लाइफ साइंस तथा जैव प्रौद्योगिकी, भौतिक शास्त्र तथा एस्ट्रोफिजिक्स, ऊर्जा, जल, जलवायु तथा प्राकृतिक संसाधन जैसे क्षेत्रों को चिन्हित किया गया है।

COMMENTS

error: Content is protected !!