Web
Analytics
जम्मू-कश्मीर: सेना ने धमाके से उड़ाई बिल्डिंग? | Aapki Chopal

जम्मू-कश्मीर: सेना ने धमाके से उड़ाई बिल्डिंग?

जम्मू-कश्मीर: सेना ने धमाके से उड़ाई बिल्डिंग?

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद आज सोमवार सुबह एक बार फिर बड़ा एनकाउंटर हुआ है,पुलवामा के ही पिंगलिना में हुई इस मुठभेड़ में सेना के 4 जवान शहीद हो गए  हैं,सुरक्षाबलों ने भी जैश-ए-कमांडर के दो कमांडरों को मौत के घाट उतार दिया है,सुरक्षाबलों ने यहां एक बिल्डिंग को ही उड़ा दिया जहां आतंकी छिपे बैठे थे,उम्मीद जताई जा रही है कि ये दोनों आतंकी कामरान और गाजी राशिद हैं जिन्होंने पुलवामा में हुए आतंकी हमले की साजिश रची थी।
आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही पूरा देश गुस्से में है,वही केंद्र सरकार की ओर से खुली छूट मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने घाटी में आतंकियों के खिलाफ एक्शन शुरू किया है, सोमवार सुबह पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन छेड़ दिया है, इस एनकाउंटर में 2-3 आतंकियों को घेरा गया था,एनकाउंटर के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया है,सेना प्रमुख बिपिन रावत आज सोमवार को ही रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात करने वाले हैं ,बिपिन रावत आज सोमवार सुबह हुए एनकाउंटर समेत जम्मू-कश्मीर के हालात के बारे में रक्षा मंत्री को जानकारी देंगे।

इस एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर कामरान भी घिरा था, कामरान कई हमलों का मास्टरमांइड रह चुका है, जिसमें हाल ही में हुआ पुलवामा आतंकी हमला भी शामिल है,इस बीच दिल्ली के गृह मंत्रालय में बड़ी बैठक चल रही है,आज सुबह पिछले तीन घंटे से फायरिंग रुकी हुई थी लेकिन फिर शुरू हुई और आतंकियों को ढेर कर दिया गया हालांकि सर्च ऑपरेशन जारी है, ये ऑपरेशन देर रात 12 बजे से चल रहा था, पूरी रात दोनों तरफ से गोलीबारी हुई,वही इलाके को घेर कर गांव वालों को बाहर निकाला जा रहा है,देर रात को इस ऑपरेशन को 55आरआर , सीआरपीएफ और एसओजी के जवानों ने मिलकर चलाया,पुख्ता जानकारी मिलने के बाद ही सुरक्षाबलों ने इस ऑपरेशन को शुरू किया,जो जवान इस मुठभेड़ में शहीद हुए हैं उनमें मेजर डी.एस.डोंडियाल, हेड कॉन्स्टेबल सेवा राम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरी सिंह शामिल हैं,एक जवान घायल है जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है,बताया जा रहा है कि जो आतंकी घिरे हैं वह भी जैश-ए-मोहम्मद के ही हैं,ये सभी आदिल अहमद डार के साथी ही हैं,इस एनकाउंटर में एक स्थानीय नागरिक की भी मौत हो गई है,इलाके को चारों ओर से घेर लिया गया है।

आपको बता दें कि 40 जवानों पर हुए इस हमले के बाद से ही भारत सरकार ने कड़ा रुख अख्तियार किया है,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह सार्वजनिक मंचों से बयान दे चुके हैं कि उन्होंने सेना को खुली छूट दी है,पीएम मोदी ने कहा था कि उन्होंने सेना को कहा है कि बदला लेने की जगह और समय वह खुद तय करें,बता दें कि हमले के बाद से ही बैठकों को दौर जारी है और रणनीति पर काम चल रहा है सीआरपीएफ की ओर से भी ट्वीट कर साफ कह दिया गया है कि ना भूलेंगे और ना ही बख्शेंगे।

ये एनकाउंटर सोमवार सुबह शुरू हुआ,एनकाउंटर में घायल हुए जवानों को एनकाउंटर वाले इलाके से निकाल कर श्रीनगर आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया था लेकिन वहां पर उनकी मौत हो गई, एहतियात के तौर पर पुलवामा जिले में इंटरनेट बंद कर दिया है

COMMENTS

error: Content is protected !!